HomeCurrent Affairsकिस राज्य सरकार ने जेट विमान/हेलीकॉप्टर कब ख़रीदा ?

किस राज्य सरकार ने जेट विमान/हेलीकॉप्टर कब ख़रीदा ?

बिहार सरकार द्वारा एक जेट विमान और एक हेलीकॉप्टर खरीदने की खबर सुर्ख़ियों में है। इससे पहले भी जब-जब किसी राज्य ने हेलीकॉप्टर खरीदने का फैसला लिया तो इस तरह की सुर्खियाँ बन चुकी है।

गुजरात:

वर्ष 2019 में गुजरात की बीजेपी सरकार ने 191 करोड़ रुपए की लागत से 12 यात्रियों वाला एक नया विमान खरीदने का फैलसा लिया। विपक्ष में बैठी कांग्रेस इसे VVIP संस्कृति को बढ़ावा देने वाला कदम बताया और कोविड के दौरान विमान बेचकर पैसा कोविड राहत में लगाने का सलाह तक दे डाला।

गुजरात सरकार के पास पहले से ही विमान था लेकिन नए विमान खरीदने के पक्ष में दलील देते हुए गुजरात के नागरिक उड्डयन निदेशक ने कहा कि “सीएम विजय रुपाणी पुराने एयरक्राफ्ट का उपयोग कर रहे हैं लेकिन जब सीएम को लंबी दूरी (चीन आदि) की यात्रा पर जाना हो तो गुजरात की सरकार को करीब एक लाख रुपए प्रति घंटे के किराए पर निजी विमान लेना पड़ता है।”

इसे भी पढ़े: जब संविधान सभा बहस के बीच में नेताजी ने उठाया फ़्री पेट्रोल कूपन का सवाल

चित्र: मोदी जी का जम्बो जेट का अन्दर का भाग.

राजस्थान:

गुजरात की तर्ज पर राजस्थान सरकार ने भी जनवरी 2022 में लगभग 200 करोड़ रूपये की लगत से एक जेट प्लेन खरीदने का फैसला लिया और फरवरी 2022 आते-आते अपने पुराने दो जेट प्लेन और एक हेलीकॉप्टर बेच दिया। इसी तरह मध्य प्रदेश सरकार ने भी जनवरी 2020 में 65 करोड़ की लगत से एक नया जेट विमान ख़रीदा। लेकिन दो वर्ष के भीतर विमान ख़राब हो गया और चुकी शिवराज सिंह चौहान के अफसर विमान का बीमा करवाना भूल गए थे इसलिए उन्होंने पुराने विमान को सही करवाने के बजाय 125 करोड़ की लगत से एक नया विमान खरीदने का फैसला लिया।

उत्तर प्रदेश:

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी वर्ष 2015 में दो नया विमान ख़रीदा जबकि उत्तर प्रदेश सरकार के पास तीन जेट विमान और तीन हेलीकॉप्टर पहले से ही था। हालाँकि बाद में सरकार ने उसमे से एक जेट विमान और एक हेलीकॉप्टर बेच दिया लेकिन आज भी उत्तर प्रदेश के पास तीन जेट विमान और तीन हेलीकॉप्टर है।

अन्य राज्य:

हिंदुस्तान के कई अन्य राज्य की सरकारें दशकों पहले अपना जेट खरीद चुकी है और ख़राब होने पर नया भी ख़रीदा है। इस सूची में महाराष्ट्र, तमिलनाडू, कर्णाटक, आन्ध्र प्रदेश, जैसे कई राज्य सरकारों का नाम शामिल हैं। हालाँकि कई राज्य आज भी किराये के जेट विमान और हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं जिसका किराया भी राज्य सरकार ही भरता है। किराये के एक जेट विमान का प्रतिदिन का किराया औसतन लगभग एक करोड़ होता है जो चुनाव के दौरान दुगुना अर्तथात दो करोड़ तक चला जाता है।

इसे भी पढ़े: कैसे होती थी 1 दिन में बद्रीनाथ से केदारनाथ की यात्रा?

चित्र: राज्य सरकारों द्वारा ख़रीदा गया छोटा जेट विमान

बिहार:

बिहार सरकार भी किराये का ही जेट विमान इस्तेमाल करता है. इससे पहले बिहार सरकार ने वर्ष 1989 में दो हेलीकॉप्टर ख़रीदा था जिसमे से एक वर्ष 2004 में दुर्घटनाग्रस्त हो गया और एक की हालत बहुत पहले ही जर्जर हो चुकी है. बिहार सरकार के पास तीन जेट विमान भी था जिसमे से सिर्फ चल रहा है। अमूमन किसी विमान या हेलीकॉप्टर की उम्र 25 से अधिकतम ३० वर्षों का होता है लेकिन बिहार सरकार के जेट विमान की उम्र 34 वर्षों से अधिक हो चूका है. और संभवतः इसी आकलन से बिहार सरकार ने वर्ष 2016 में ही नया विमान और हेलीकॉप्टर खरीदने का फैसला कर लिया था जिसकी मंजूरी NDA कार्यकाल के दौरान हुई थी।

मोदी जी का जम्बो जेट:

विमान खरीदने की सबसे बड़ी खबर तब बनी थी जब मोदी सरकार ने देश के अमरीका के राष्ट्रपति की तर्ज पर हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति समेत अन्य मुख्य लोगों के लिए 8,458 करोड़ की लागत से दो जम्बो विमान खरीदने का फैसला लिया था। हालाँकि यह कहना अभी संभव नहीं है कि प्रधानमंत्री मोदी के अलावा किसी राष्ट्रपति या किसी अन्य व्यक्ति ने इस विमान का इस्तेमाल किया होगा।

HTH Logo

Hunt The Haunted के WhatsApp Group से  जुड़ने  के  लिए  यहाँ  क्लिक  करें (लिंक)

Hunt The Haunted के Facebook पेज  से  जुड़ने  के  लिए  यहाँ  क्लिक  करें (लिंक)

Sweety Tindde
Sweety Tinddehttp://huntthehaunted.com
Sweety Tindde works with Azim Premji Foundation as a 'Resource Person' in Srinagar Garhwal.
RELATED ARTICLES

Most Popular

Current Affairs